कोरोना काल मे देहरादून एवं कोटद्वार मे बेसहारों की सहारा बनी अभ्युदय वात्सल्यम /अध्यक्षा डा.गार्गी मिश्रा के प्रयासों को सभी वर्गों ने सराहा

उत्तरप्रदेश उत्तराखण्ड

देहरादून (उत्तराखंड)- कोरोना काल के दौरान लौकडाउन के दो माह कमजोर वर्गों के लिए भारी मुसीबत साबित हुए हैं, इस संकटकाल मे डा.गार्गी मिश्रा के नेतृत्व में “अभ्युदय वात्सल्यम” संस्था बेसहारा, असहायों के लिए सहारा बनी है। डा.गार्गी मिश्रा के इन प्रयासों को सर्वत्र सराहा जा रहा है।

अभ्युदय वात्सलयम् परिवार की अध्यक्ष गार्गी मिश्रा ने सभी से निवेदन करते हुए ये भी कहा कि हमेशा याद रखना बेहतरीन दिनों के लिये, बुरे दिनों से लड़ना पड़ता है।


हमारा अपने सभी भाई-बहनों से करबद्ध निवेदन है कि मतलब के बग़ैर बने ताल्लुकातों का स्वाद हमेशा मीठा होता है।मेरी कामना, मेरी इच्छा और मेरा प्रयास हमेशा यही रहता है की सभी प्रभु प्रेमी प्रसन्न रहें, खुश रहें और जीवन का पूर्ण आनंद प्राप्त करें । हमारा समाज एक प्यार का मंदिर है, बहुत सुन्दर है इसे और सुन्दर बनाओ , आज ईश्वर की कृपा से जो भी संभव होता है उतनी सेवा हम करते रहते हैं ।

परहित बस जिन्ह के मन माहीं।
तिन्ह कहुँ जग दुर्लभ कछु नाहीं

जिनके मन में सदैव दूसरे का हित करने की अभिलाषा रहती है अथवा जो सदा दूसरों की सहायता करने में लगे रहते हैं, उनके लिए सम्पूर्ण जगत्‌ में कुछ भी दुर्लभ नहीं है।

अचानक घर पर पहुँचे चन्द लोगों को छोटा सा सहयोग करने के प्रयास के साथ आरम्भ हुआ सेवा अभियान अब लगातार कई दिनों से शहर के विभिन्न क्षेत्रों में सामाजिक संस्था अभ्युदय वात्सल्यम् के द्वारा राशन वितरण किया जा रहा है। जिनके पास राशन कार्ड नहीं उनको संस्था द्वारा एक सप्ताह का राशन दिया जा रहा है। इसी क्रम में इस हफ्ते राशन के साथ-साथ ताज़ी सब्ज़ियों का भी वितरण किया जा रहा है ।


संस्था की अध्यक्ष गार्गी मिश्रा द्वारा बताया गया कि जब से लॉक डाउन की स्थिति बनी है तभी से संस्था कोटद्वार एवं देहरादून में चिन्हित स्थानों पर सर्वे कराकर क्षेत्रों में कच्चे राशन के पैकेट बना कर सदस्यों के साथ आवश्यकतामंद परिवारों को समय-समय पर राशन वितरण किया जा रहा है। कोटद्वार में संस्था के द्वारा बालासौड, दूध की डेरी मानपुर, जौनपुर में राशन का वितरण किया गया , वहीं देहरादून में संस्था के स्वयंसेवकों द्वारा सहस्त्रधारा , नागल, कुल्हान , राजीव नगर, रिस्पना नदी के किनारे भूखे मजदूरों को तैयार भोजन को पैकेट के माध्यम से पहुंचाया गया।
यह सब कार्य अभ्युदय वात्सल्यम् की अध्यक्ष गार्गी मिश्रा, संस्थापक डॉ अशोक कुमार मिश्र, सहयोगी अँकुर शर्मा, संयोजक संजय थपलियाल, हरीश मेहरा ‘हरदा नैनोई’ , राजेश सिंह, दीपराज कौशल, के सेवाभाव से पूर्ण हो रहा है ।
साथ ही संस्था की अध्यक्ष गार्गी मिश्रा ने समाज को संदेश देते हुए कहा कि अपने प्रेम और अच्छाई पर इतना भरोसा रखिए , जीवन बहुत छोटा हैं उसे ऐसे लोगों के साथ गुजारो जो आपको खुश देखना चाहते हैं, आपकी कद्र करते है।आप कितने भी शक्तिशाली या ज्ञानी हो अगर आप अधर्म के मार्ग पर हो तो आपको कोई बचा नहीं सकता, सामाजिक दूरी बनाए रखिये, घर पर ही रहिये , स्वयं को और अपने परिवार को सुरक्षित व स्वस्थ रखें, लॉकडाउन नियमों का पालन करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *